Breaking News

Crime story in hindi- अंधविश्वास नहीं ले ली परिवार की जान

अंधविश्वास नहीं ले ली परिवार की जान

वर्तमान युग विज्ञान का युग है वर्तमान में विज्ञान ने इतनी तरक्की कर ली है कि वह हर प्रकार के काम में तरक्की कर चुका है परंतु कई पिछड़े वर्ग तथा गांव ऐसे हैं जहां विज्ञान की पहुंच कम और अंधविश्वास की पहुंच जाता है


Crime story in hindi-

 अंधविश्वास नहीं ले ली परिवार की जान यह कहानी इसी बात पर आधारित है कि हम कैसे अंधविश्वास को खत्म कर सकते हैं हम इस कहानी में आपको बताएंगे कि कैसे एक व्यक्ति ने अंधविश्वास के चलते अपने पूरे परिवार की जान ले ली!


वर्तमान में हमारे देश के कई राज्यों के छोटे-छोटे गांव में अंधविश्वास इस कदर फैला है कि इसके कारण कई लोगों की जिंदगी तबाह हो चुकी है अंधविश्वास ने इन गांवों के लोगों की आंखों में कुछ ऐसा पर्दा डाला है कि यह उसके पार देखने की कोशिश नहीं करते इन गांवों के लोग विज्ञान को नहीं मानते और  ढोंगी बाबाओं के जाल में फस कर अपने घर परिवार सभी का बलिदान कर देते हैं !




Crime story in hindi

हम इस कहानी के अंत में चर्चा करेंगे कि अंधविश्वास को हम कैसे समाप्त कर सकते हैं

अंधविश्वास क्या है

हमारी यह कहानी अंधविश्वास पर आधारित है आइए हम सबसे पहले जानते हैं कि अंधविश्वास क्या है
सामान्य लोगों के अनुसार अंधविश्वास किसी ऐसी चीज पर विश्वास करना जैसे जादू काला जादू सम्मोहन मूर्ति पूजा सामान्यता हम इन सभी को अंधविश्वास कह सकते हैं कई गांव में अंधविश्वास जैसे बुखार आने पर झाड़ देना और किसी की बुरी नजर से बचने के लिए नींबू मिर्च लगाना, हाथ में काला धागा पहनना यह सभी अंधविश्वास के प्रकार हो सकते हैं!

हम  crime  कैसे समाप्त करे आगे पढ़ें



सामान्यतः अंधविश्वास यानी कई ऐसी घटनाएं जिनके बारे में सामान्य इंसान नहीं जान सकता जैसे शक्ति भूकंप आना काला जादू ज्वार भाटा इन सभी बातों के बारे में सामान्य इंसान नहीं जानता तो वह अपनी सोच में इसे शक्ति कहता है परंतु साइंस में इसे अंधविश्वास कहते हैं ऐसे लोग भूत प्रेत जादू काला जादू जादू टोना ऐसी बातों पर विश्वास कर अपने परिवार सहित सभी को नुकसान पहुंचा देते हैं हम इन सभी को अंधविश्वास कह सकते हैं 


 Real Crime story in hindi- अंधविश्वास नहीं ले ली परिवार की जान

अंधविश्वास ने कई गांव में कई लोगों के परिवार तबाह किए हैं ऐसा ही एक गांव जिसमें एक किसान संजय रहता था उसकी पत्नी कविता और उसकी एक बेटी सोनिया और एक बेटा मुकेश था! 
संजय काफी गरीब था वह पढ़ा लिखा भी नहीं था इसीलिए उसे विज्ञान पर भरोसा नहीं था वह विज्ञान वाली किसी चीज को नहीं मानता था और उसके आसपास अगर कोई ऐसी घटना हो जाए जिसे वह नहीं जानता तो वह उसे जादू या भूत प्रेत का नाम जीता उसकी यही आदत है उसके परिवार को बहुत परेशान कर दी थी बहुत ही अंधविश्वासी था हर किसी ढोंगी बाबा पर विश्वास करना ताबीज काला धागा तंत्र मंत्र झाड़-फूंक यह उसकी आदत थी यह कोई नहीं जानता था कि उसकी आदत से उसका परिवार तबाह हो जाएगा !

भ्रष्टाचार को कैसे खत्म करें आगे पढ़ें

संजय गांव में रहता था वह गांव विज्ञान के मामले में ज्यादा विकसित नहीं था परंतु उसका बेटा और बेटी सोनिया और मुकेश पढ़े लिखे थे इसीलिए वह किसी भी अंधविश्वास वाली बात पर यकीन नहीं करते थे और यही बात संजय को खलती थी क्योंकि वह बहुत गरीब था और वहां कोई भी अंधविश्वास लेकर जब बच्चों के सामने ज्यादा तो दोनों मना कर लेते और संजय यह सोचता कि इन्हीं की वजह से मेरे पास धन नहीं आ रहा है !

मुकेश और सोनिया काफी समझदार थे वह अपने पिताजी संजय को अक्सर उनके हर सवाल का जवाब उदाहरण सहित दे दे पर संजय पढ़ा लिखा नहीं था इसीलिए वह उनके हर एक उदाहरण को जादू समझ बैठा और इसका विश्वास अंधविश्वास पर और ज्यादा बढ़ जाता अब उसका विश्वास उसकी चरम सीमा पार कर चुका था 1 दिन गांव में शहर से दो चोर आ गए उन्होंने ढोंगी का रूप लिया वह पूरी गांव में घूम घूम कर
भिक्षा मांगते हमें दोनों बहुत ही चालाक थे इसीलिए जो उन्हें बेवकूफ और अंधविश्वासी लगता है मैं उसे अपने झांसे में ले लेते!
यह कहानी आपCrime story in hindi-  crime house सारे पढ़ रहे हैं ऐसी और कहानियां पढ़ने के लिए क्लिक करें

ऐसे ही उन चोरों के हाथ एक दिन संजय लग गया तो फिर क्या था दोनों चोरों ने अपने ज्ञान की मदद से संजय को पूरी तरह से अपने झांसे में कर लिया!
संजय काम पर जा रहा था तो उसने दोनों चोरों को जो ढोंगी बाबा का रूप धरे बैठे थे उन्हें देखा संजय भागा भागा उनके पास चला गया वहां और हाथ जोड़ते हुए बोला बाबा मैं बहुत गरीब किसान हूं मैं बहुत जल्दी अमीर होना चाहता हूं आप मेरा हाथ देख कर बताइए कि मैं अमीर कब होगा!

शारीरिक शोषण  जैसे क्राइम को कैसे समाप्त किया जाए आगे पढ़े

दोनों चोर समझ गए चोरों ने झूठ झूठ कह दिया कि तुम्हारे घर पर कोई बुरा साया है और उन्होंने एक नींबू संजय को दिया उन्होंने कहा कि इसे अपने घर के किसी कोने पर रख देना यह अगर कल लाल हो गया तो समझ लेना कि तुम्हारे घर पर कोई बुरा साया है


संजय उनकी बात मान गया और नींबू लेकर घर चला गया उसने वह नींबू सभी से छुपा कर अपने घर के एक कोने में रख लिया जब संजय सुबह को उठा तो वह सोच रहा था क्या होगा क्या नहीं होगा उसने जब नींबू देखा तो उसके होश उड़ गए नींबू का रंग पीले से लाल हो गया था अब संजय को उन दोनों चोरों पर पूरा विश्वास हो गया और वह भागा भागा उन दोनों के पास गया और उनके पैरों में गिर गया बोला बाबा आप तो अपार ज्ञानी है मुझे मुझे इस मुसीबत से बताइए मैं जल्द से जल्द अमीर होना चाहता हूं मैं अपनी गरीबी से ऊब गया हूं मुझ पर अपनी कृपा दृष्टि बनाई है !
 चोर समझ गए कि अब यह हमारे कब्जे में पूरा आ चुका है अब वह उसके साथ कुछ भी कर सकते हैं तो चोरों ने संजय को एक ताबीज दिया और कहां कि तुम इसे पहने रखना 1 सप्ताह में तुम्हारे घर पूरी लक्ष्मी आ जाएगी संजय जा रहा था तो चोरों ने कहा बेटा जिस की कुछ दक्षिणा दे दो तो संजय ने अपने 1 दिन की कमाई पूरी उन्हें दे दी चोर बहुत खुश है

अवैध संबंध बनाना कानूनी जुर्म है आगे पढें

अच्छा संजय जी बहुत खुश था वह खुशी-खुशी घर गया और अपनी पत्नी कविता को भी यह बात बताई थी दो बाबा मुझे मिले थे वह बहुत अपार ज्ञानी थे उन्होंने मुझे यह ताबीज दिया है अब हमारे घर जल्द ही लक्ष्मी का वास होगा

1 सप्ताह बीत गया संजय के घर कुछ धन नहीं आया भर सोच में पड़ गया कि यह ताबीज कुछ काम क्यों नहीं कर रहा था उसने दोनों चोरों को बताया कि बाबा यह ताबीज काम नहीं कर रहा मेरे घर धन नहीं आया तो चोरों ने कहा यह ताबीज उस साइए के वजह से काम नहीं कर रहा है हम शाम को तुम्हारे घर खाने पर आएंगे तब उसे साया को भी पकड़ लेंगे.
शाम हो गई दोनों चोर संजय के घर खाने पर पहुंचे संजय ने उनकी बहुत खातिरदारी की अभी देखते देखते चोरों की नजर संजय की बेटी सोनिया पर पड़ी उनकी नीयत फिसल गई सोनिया काफी खूबसूरत थी तो चोरों ने अब उसे अपने कब्जे में लेने की कोशिश की पर सोनिया चालाक थी जिससे वह उनकी एक बात न मानी अब जाते जाते संजय ने जब पूछा की बाबा उस साया का क्या हुआ तू चोरों ने संजय को कहां कि हमने उस साया का असर तो कम कर लिया है पर वह अभी तुम्हारे घर में ही है अगर देखना हो तो देख लेना कल तुम्हारे घर अवश्य लक्ष्मी आएगी और, चोर चले गए

रिश्वतखोरी crime story in hindi आगे  पढ़े

दूसरे दिन जब संजय उठा वह बाहर गया तो उसकी दहलीज पर एक पोटली रखी थी जिसमें कुछ रुपए थे संजय समझ गया कि यह सब बाबा की कृपा है और वह खुश होकर बाबा के पास गया और बोला बाबाजी मेरे घर से उस साय को दूर कीजिए ताकि मैं जल्द ही अमीर हो सकूं

 Crime petrol - crime story in hindi

तब दोनों चोरों ने चतुराई से कहा कि वह साया और कोई नहीं तुम्हारी बेटी है संजय दंग रह गया उनकी हां में हां मिलाते हुए बोला कि आप सही कह रहे हैं मुझे भी यह लग रहा था अब इसका क्या उपाय है तो चोरों ने कहा तुम अपनी बेटी को एक दिन अमावस की रात को हमारी कुटिया पर ले आना मैं उस पर हवन कर उसके अंदर से साए को निकाल दूंगा
संजय मान गया और उसने यह बात घर पर बता दी पढ़ो सोनिया बिल्कुल भी तैयार नहीं थी और उसे पता था कि वह दोनों ढोंगी है पर संजय उसकी बात कहां सुनने वाला था अमावस की रात आ गई दिन भर जोर जबरदस्ती की गई अरे सोनिया नहीं मानी हद जब रात हो गई तो चुपके से संजय ने खाने में नींद की दवाई मिला कर सब को खिला दी
पर मुकेश ने खाना नही खाया इसी लिये वो बच गया ।
संजय अब  सोनिया को बेहोश हालात में चोरो के कुटिया पर ले गया । तब ही मुकेश को पता चल गया और वो पुलिस स्टेशन चला गया और जब उसने दोनों चोरो की फ़ोटो नोटिस बोर्ड पर देख ली तो वह ढंग रह गया । वो भी पुलिस को लेकर चोरो की कुटिया पर जाने लगा ।


Crime story in hindi- अंधविश्वास नहीं ले ली परिवार की जान


Hit and run crime आगे पढ़ें 

चोरो ने संजय को बाहर जाने को कहा जैसे ही संजय बहार गया तो चोरो ने बेहोस सोनिया के साथ शारीरिक संबंध बनाए । जिस दौरान वो मर गई । अब वो दोनों डर गए  वो बहार आ गया और संजय को कहा कि वो साया बहुत ताकतवर था इसी। लिए इसकी वजह से तुमारी बेटी की जान चली गई ।  संजय ने कुछ नही बोलै ओर कहा बाबा अब तो में अमीर हो जाऊंगा न तो चोरो ने कहा हा जरूर पर तुम इसे कहीं दफन कर दो फिर कल देखना तुम कितने अमीर होते हो ।
संजय चला गया ओर चोर भागने लगे तभी पुलिस आ गई और दोनों को गिरफ्तार कर दिया ।

संजय को भी गिरफ्तार कर दिया गया ।
सोनिया के पोस्टमार्टम में यह बात साफ हो गई कि उसके साथ बलात्कार हुया है दोनों चोरो को उम्र कैद हो गई और संजय को भी 20साल की कैद हो गईं।
अब मुकेश ओर उसकी माँ कविता गांव छोड़ के  शहर में रहने लगे ।

निष्कर्ष -crime story in hindi  अंधविश्वास 

अपने इस crime story in hindi में पढ़ा कि कैसे अंधविश्वास के झाँसे में आकर संजय ने अपने परिवार को भी दांव पर लगा दिया ।
संजय ने अपनी बेटी का अपने हाथों बलात्कार करवा दिया और उसे मौत के घाट उतार दिया।
अंधविश्वास की वजह से वो खुद तो बर्बाद हुए पर अपने परिवार को भी तबाह कर बैठा।


Crime story in hindi  अंधविश्वास को कैसे समाप्त करे

  • अंधविश्वास को समाप्त करने  के लिए सबसे पहले हमें शिक्षित होना जरूरी है । 
  • अंधविश्वास पर सबसे ज्यादा अशिक्षित लोग ही विश्वास करते है । 
  • हमे कभी भी ऐसे ढोंगी बाबा के झाँसे में नही आना चाहिए ।
  • जब कोई व्यक्ति ऐसे बाते करता है तो उसे समजना चाहिए कि यह सब गलत है ताकि वो पूरी तरह से चपेट में न आये । 

दोस्तो मुझे उमीद है कि आपको मेरी यह कहानी पसंद आई होगी तो लाइक ओर शेअर जरूर करे । 

हम अंधविश्वास को कैसे समाप्त कर सकते है आपने सुजाव कमेन्ट में जरूर दे । हो सकता है कि आपके एक सुजाव से किसी का परिवार बच सके ।


No comments