Breaking News

Crime story in hindi - ऑनलाइन डेटिंग करना पड़ गया जान पर भारी

यह कहानी वर्तमान में हो रहे ऑनलाइन डेटिंग के बारे में है कि किस प्रकार लोग ऑनलाइन डेटिंग के कारण क्राइम का शिकार हो रहे हैं और अपनी जान से हाथ धो रहे हैं

 Crime story in hindi - ऑनलाइन डेटिंग करना पड़ गया जान पर भारी / यह कहानी हम ऑनलाइन डेटिंग के बारे में लिख रहे हैं!  ऑनलाइन डेटिंग के अनुसार रिकॉर्ड में महिलाएं इसका ज्यादा शिकार है आइए हम ऑनलाइन डेटिंग के बारे में कुछ और चर्चा करते हैं
Crime story in hindi
Crime story in hindi

 What is online deting

ऑनलाइन डेटिंग मेलोग ऑनलाइन फेसबुक अकाउंट या ट्विटर पर या इंस्टाग्राम पर एक दूसरे को फॉलो कर आपस में बातें करते हैं और तब आखिरकार एक दूसरे को ट्रीट करने का या एक दूसरे के साथ संबंध बनाने का फैसला करते हैं उसे ऑनलाइन डेटिंग कहते हैं
ऑनलाइन डेटिंग जाने जब लोग किसी ऐप के माध्यम से मिलते हैं तथा एक दूसरे को ऐप के माध्यम से अपना जीवन साथी चुनते हैं तो हम उसे ऑनलाइन डेटिंग कह सकते हैं ऐसे ही ऑनलाइन डेटिंग के कई एप वर्तमान में उपलब्ध हैं और लोग इनका उपयोग भी करते हैं 




हम यह नहीं कहते कि ऑनलाइन डेटिंग गलत है परंतु कभी-कभी क्रिमिनल ऑनलाइन डेटिंग का सहारा लेकर कई महिलाओं को पुरुषों को लूटपाट कर ठग कर क्राइम का शिकार बना देते हैं इस क्राइम से बचना कुछ हद तक बहुत मुश्किल हो जाता है परंतु हम अपनी सावधानी और चतुराई से क्राइम से बच सकते हैं


Crime story in hindi - ऑनलाइन डेटिंग करना पड़ गया जान पर भारी

अक्सर महिलाएं या पुरुष ऑनलाइन डेटिंग का उपयोग कर अपना जीवन साथी चुनते हैं किसी को अच्छा जीवन साथी मिल जाता है




 और किसी को नहीं परंतु किसी किसी का सामना ऑनलाइन डेटिंग कर रहे क्रिमिनल से हो जाता है यह केवल या तो ऑनलाइन डेटिंग कर रहे लोगों की जिंदगी बर्बाद कर देते हैं

 यहां तो उनसे धन लूट कर भाग जाते हैं ऐसी ही एक घटना crime story in hindi मैं हम बता रहे हैं शालू शालू ने अभी हाल ही में अपने इंटर की परीक्षा पास की थी और वह जॉब की तलाश में थी

अक्सर फ्रेशर के लिए जॉब मिलना बहुत मुश्किल होता है इसीलिए शालू भी इसी मुसीबत से सामना कर रही थी वह एक गर्ल्स हॉस्टल में अपनी सहेली के साथ रहती थी उसकी दो सहेलियां की राधिका और सुनीता अक्सर शालू इन्हें के साथ ज्यादा टाइम स्पेंड किया करती थी

राधिका और सुनीता दोनों अभी इंटर की पढ़ाई कर रहे थे और वह अपने घर से दूर रहते थे तो उसी लिए वह गर्ल्स हॉस्टल में रहते थे और शालू जॉब की तलाश में शहर आई थी इसीलिए वह भी गर्ल्स हॉस्टल में रहती थी तीनों में बहुत गहरी दोस्ती थी तीनों आपस में सारी बातें शेयर करते थे


1 दिन बात करते-करते तीनों अपने बॉयफ्रेंड की बातें करने लगे राधिका और सुनीता अभी इंटर में पढ़ाई करते हुए तो उनके साथ पढ़ने वाले लड़के उनके मित्र थे मैं आपस में बहुत बातें करते और जब राधिका और सुनीता अपने बॉयफ्रेंड से बातें करते थे तो शालू को अकेलापन महसूस होता था और इसी अकेलेपन को बहुत दूर करने के लिए वाह फेसबुक का उपयोग करती थी!

अक्सर आपने देखा होगा कि फेसबुक पर कई मनचले लड़के सिर्फ आपकी प्रोफाइल पिक्चर देख कर आपको फ्रेंड रिक्वेस्ट भेज देते हैं और यदि आप उनकी रिक्वेस्ट एक्सेप्ट कर ले तो वह आपके साथ छोटी छोटी बातें शेयर कर आपकी बातें पूछ कर नज़दीकियां बढ़ाते हैं

 बस शालू के साथ भी कुछ ऐसा ही होगा एक दिन जब उसकी दोनों सहेलियां राधिका और सुनीता अपने दोस्त के साथ बातें करने पर बिजी थी तो शालू ने फेसबुक चलाना शुरू कर दिया शालू दिखने में खूबसूरत ही इसीलिए उसके लिए भी एक मनचले लड़के की फ्रेंड रिक्वेस्ट आई

Crime story in hindi

 और सालू ने वह एक्सेप्ट कर ली जब फ्रेंड रिक्वेस्ट एक्सेप्ट हो गई तो कुछ देर बाद हाय का मैसेज आया अब शालू और वह लड़का जिसका नाम राघव था दोनों बात करने लग गए और बातें करते करते 2 महीने बीत गए शालू ने अब उसे अपना मोबाइल नंबर भी दे दिया था दोनों बहुत बातें करने लगे इस बात की भनक राधिका और सुनीता को नहीं थी नहीं तो वह उसे जरूर समझाते !


अब जब वह दोनों को पता नहीं था तो शालू और राघव दोनों बहुत बातें करते थे एक दिन राघव ने शालू को कहा कि मैं तुम्हें ट्रीट डेट पर ले जाना चाहता हूं क्या तुम मेरे साथ जाना पसंद करोगी शालू को लगा कि मैं इसे 3 महीने से जानती हूं तो इसके साथ जाने में मुझे कोई आपत्ति नहीं होगी!

शालू ने ट्रीट के लिए हां कह दिया अब राघव ने उसे अपना घर का एड्रेस दिया और कहा मैं तुम्हें घर पर ट्रीट दूंगा तुम मेरे घर पर आ जाओ शालू थोड़ा झिझक गई पर उसने बाद में हां कह दी और वह राघव के घर जाने को तैयार हो गई!




दूसरे दिन सुबह होते ही शालु जो पड़ जाने का बहाना बनाकर चली गई इस बात की खबर सुनीता और राधिका को नहीं थी
 शालू वहां पहुंची तो वहां एक शहर से बहुत दूर एक गेस्ट हाउस था शालू समझ नहीं पाई राघव बाहर आया और उसे अपने गेस्ट हाउस तक ले गया!
पहले तो दोनों ने खूब बातें की राघव शालू के लिए ठंडा पानी पीने को लाया काफी देर बाद शालू ने कहा अब मुझे जाना चाहिए तो राघव ने कहा रुको अभी कुछ खाते पीते जाओ तब राघव शालू के लिए कोल्ड ड्रिंक लेकर आया जैसे ही शालू ने कोल्ड ड्रिंक पी तो शालू का सिर भारी होने लगा उसे कुछ समझ नहीं आ रहा था क्या हुआ राघव ने कहा तुम घर जाने की हालत में नहीं हो यही सो जाओ अभी दोपहर का टाइम है शाम को चली जा जाना


एक-दो घंटे बाद जब शालू को होश आया तो राघव के साथ उसके चार दोस्त थे शालू समझ नहीं पाए कि क्या हो रहा है सालों के हाथ बंधे हुए थे और कपड़े फटे हुए थे शालू समझ गई कि मेरे आज क्या हो रहा है और क्या होने वाला है राघव और उसके चारों दोस्तों ने मिलकर शालू की इज्जत लूट ली और 3 दिन तक उसे बांधकर उसके साथ शारीरिक शोषण करते रहे यह बात किसी को पता नहीं थी इस चालू कहां है शालू की सहेलियों ने उसके गांव फोन करके जब पूछा कि क्या शालू गांव आई है तब उन्होंने पुलिस में रिपोर्ट दर्ज कराई पुलिस ने छानबीन करना शुरू कर दिया फिर 1 सप्ताह बाद चालू की लाश टुकड़ों में एक तालाब से बरामद हुई यह अभी तक पता नहीं चला था कि शालू के साथ क्या हुआ होगा जब उस लाश का पोस्टमार्टम कराया गया तो पता चला कि उसके साथ 5 लोगों ने शारीरिक शोषण किया है अब एकमात्र यह पता लगाने का उपाय था उसका फोन कि उसके साथ क्या हुआ !


पुलिस ने अपनी साइबर ब्रांच द्वारा शालू के मोबाइल की लोकेशन और उसके मोबाइल में आने वाले कॉल के नंबर ढूंढना शुरू किया एक नंबर था जिससे बहुत बार शालू को कॉल किया जाता था पुलिस को शक सीधा राघव पर पहुंच गया और पुलिस राघव के घर पहुंच गई राघव हो जब जेल में ले जाकर जब टॉर्चर किया गया तो राघव ने सारी बात उगल दी यह बात साफ हो गई कि ऑनलाइन डेटिंग के कारण शालू की जान गई है राघव में अपने चार दोस्तों का एड्रेस दी पुलिस को दे दिया

अप पुलिस ने पांचों को गिरफ्तार कर लिया और उन्हें शारीरिक शोषण करने और कत्ल करने के इल्जाम में उम्र कैद की सजा सुनाई गई!

Conclusion of crime story in hindi

 इस crime story in hindi मैं आपने देखा कि कैसे शालू ऑनलाइन डेटिंग का शिकार हुई हम यह नहीं कहते कि ऑनलाइन डेटिंग या ऑनलाइन बनने वाले दोस्त खराब होते हैं परंतु हमें उन दोस्तों की पूरी डिटेल और उनके बारे में अपने दोस्तों को तो अवश्य बताना चाहिए हो सकता है कि आपकी कुछ सावधानी आपकी जान बचा सकती है आपने देखा कि शालू ऑनलाइन डेटिंग करने राघव के साथ गई और उसके जाल में पत्थर शारीरिक शोषण और तब मौत का शिकार हो गई यदि वह अपनी सहेलियों से पूछ लेती  तो शायद उसकी जान बच सकती थी या वह राघव के बारे में जानकारी पता करती तो तब भी उसकी जान बच सकती थी परंतु उसने ऐसा नहीं किया

ऑनलाइन होने वाले फ्रॉड से हमें हमेशा अक्सर बच कर रहना चाहिए क्योंकि ऑनलाइन फ्रॉड का पता लगाना बहुत ही मुश्किल होता है इसीलिए यदि आपको कोई अनजान व्यक्ति मिलने बुलाता है या हम जब भी किसी ऑनलाइन पेमेंट करते हैं तो हमें देख लेना चाहिए कि यह ऑनलाइन माध्यम सिक्योर सुरक्षित है या नहीं या हम जिस व्यक्ति से बातें कर रहे हैं वह व्यक्ति कोई क्रिमिनल तो नहीं है क्योंकि हमारी थोड़ी सी जानकारी लेना और थोड़ी सी सावधानी बरतना हमारी जिंदगी बचा सकता है या हमारी जिंदगी को बर्बाद होने से बचा सकता है !

दोस्तों मुझे उम्मीद है कि आपको मेरी यह कहानी ऑनलाइन डेटिंग पसंद आई होगी यदि आपको मेरी यह कहानी पसंद आई है तो लाइक और शेयर अवश्य करें!

हम ऑनलाइन होने वाले फ्रॉड को कैसे रोक सकते हैं हमें अपने सुझाव कमेंट में अवश्य करें हो सकता है कि आपकी एक सुझाव से किसी व्यक्ति की जिंदगी बच सकती हो धन्यवाद
यदि आप ऐसी ही और दिलचस्प क्राइम स्टोरी पढ़ना चाहते हैं तो यहां पर क्लिक करें

No comments