Breaking News

बहू ने रिश्तों को किया, शर्मसार crime petrol story in hindi

बहू ने रिश्तों को किया,  शर्मसार crime petrol story in hindi


बहू ने रिश्तों को किया,  शर्मसार crime petrol story in hindi यह क्राइम स्टोरी का मकसद आप को डराना नहीं बल्कि आपको टाइम के प्रति जागरूक करना है इस कहानी में आप जानेंगे कि कैसे एक बहू ने अपने लालच में आकर अपने रिश्तो को भी शर्मसार कर दिया!
Crime petrol story बहू ने रिश्तों को किया,  शर्मसार
Crime petrol story


उत्तर प्रदेश के एक शहर में जयवीर नाम का एक बिजनेसमैन रहता था उसका दो बेटे थे राहुल रवि दोनों की शादी हो चुकी थी राहुल बड़ा बेटा और रवि छोटा बेटा जय वीर की पत्नी की एक सड़क हादसे में मौत हो गई थी राहुल की पत्नी का नाम कविता था, रवि की पत्नी का नाम सरिता था शादी के बाद सब कुछ ठीक चल रहा था दोनों के बच्चे बड़े स्कूलों में पढ़ने जाते थे सारी सुख सुविधा उनके पास थी!

एक दिन जयवीर ने अपना बिजनेस स्कोर अपने बड़े बेटे राहुल के हाथ सौंपने की घोषणा की सभी इस बात से खुश थे परंतु छोटे भाई रवि की पत्नी सरिता खुश नहीं थी यह बात किसी को पता नहीं थी कि क्या है परंतु सरिता अपने पति को कुछ ना बोल सकी फिर रात को अपने पति से बोली कि तुम भी अपने भाई के साथ 50 प्रतिशत मालिक क्यों नहीं बन जाते ताकि हमें उनसे रुपए मांगने की जरूरत ना पड़े जब हम उनसे रुपए मांगते हैं तो हमें जिल्लत महसूस होती है क्यों ना आप भी आधा बिजनेस आप संभाले और आधा बड़े भैया
रवि ने कहा यह तुम कैसी बात कर रही हो ऐसा कैसे हो सकता है और जिल्लत किस चीज की वह हमारी भी मेहनत का पैसा है हम जब चाहे मांग सकते हैं तब सरिता को गुस्सा आ गया और उसने कहा कि तुम तो अपने भाई की तरफदारी करोगे
Read more crime story in hindi
ऐसे ही बहुत दिन बीत गए राहुल अपनी पत्नी कविता के लिए नई साड़ी खरीद कर लाया कविता बहुत खुशी हुई और उसने वह साड़ी सरिता को दिखाएं जब सरिता ने वह साड़ी देखिए तो दाम पूछा जब कविता ने कहा कि 10000 की साड़ी है तो सरिता दंग रह गई
सरिता अपने कमरे में चली गई और अपने पति रवि से कहा कि मुझे भी साड़ी चाहिए अब रवि बिजनेस का कोई पार्टनर नहीं था उसमें रुपए भी नहीं थे और वह फिजूल खर्च के लिए रुपए नहीं ले सकता था उसके समझ में नहीं आ रहा था क्या करूं तो उसने अपने भैया से ₹5000 मांग लिए और सरिता के लिए साड़ी ले आया सरिता काफी खुश थी पर यह खुशी ज्यादा दिन तक टिकने वाली नहीं थी!
       






दूसरे दिन सरिता ने फिर रवि से अपने लिए अंगूठी लाने की मांग की तो रवि ने मना कर दिया रवि ने कहा मैं इतने रुपए कहां से लाऊंगा और मैं भैया से इतने रुपए मांग नहीं सकता अगर तुम मांग सकती हो तो ले आओ मैं खरीद कर ले आऊंगा सरिता को गुस्सा आ गया तब खाना खाने के समय दोपहर के समय सरिता ने सभी के सामने कहा कि क्यों ना मेरे पति भी बिजनेस के आधे आधे मालिक हो जाए जिससे दोनों ज्यादा कार्य संभाल सकेंगे यह सुनकर जयवीर ने कहा यह कैसी बात कर रहे हो वह भी मालिक ही है


तब सरिता ने कहा तो फिर कुछ काम मेरे पति को भी सौंप दिया करो ताकि वह कुछ कर सके हमें हमारी इच्छाएं पूरी कर सके ऐसा सुनकर जयवीर की समझ में नहीं आया वह बोला बहू आज तुम कैसी बहकी बहकी बातें कर रही हो उसने तुम्हारी क्या इच्छा है पूरी नहीं की तब सरिता बोली मैंने कल इनको अपने लिए अंगूठी लाने को कहा था इन्होंने मुझे साफ मना कर दिया कहते हैं कि मेरे पास रुपया नहीं है अब बताओ मैं क्या करूं जय वीर ने कहा ठीक है मैं ला दूंगा बहू पर अब चिंता मत!
हम ऐसा सुनकर रवि को गुस्सा आ गया और उसमें सरिता को सुना दिया अब सरिता ने बिना सोचे समझे रवि से झगड़ा करना शुरू कर दिया दोनों में झगड़ा बहुत ज्यादा हो गया रवि तो ऑफिस चला गया पर सरिता को बहुत गुस्सा आया हुआ था जब रात को रवि वापस आया तो सरिता ने उसके दूध में जहर की गोली डाल दी जिससे उनकी मौत हो गई उसने यह मौत एक हार्टअटैक बताएं और बिना पोस्टमार्टम करें अंतिम संस्कार भी करवा दिया किसी को कानो कान खबर तक नहीं हुई की वह हत्या है .!
पर सरिता अभी भी नहीं रुकी अब वह रोज अपने जेट राहुल को कहते कि आज मुझे साड़ी चाहिए अंगूठी चाहिए और राहुल उसको बुला कर देता एक दिन राहुल ने भी मना कर दिया और कहा कि तुम इतना सामान का क्या करोगे तो सरिता बोली कि मेरे भी कुछ ख्वाहिशें हैं मैं उन्हें भी पूरा करना चाहती हूं आप ला दीजिए वरना मुझे मेरा हिस्सा दे दीजिए जो मेरे पति का था ऐसे सुन पर राहुल चुप हो गया बहुत सारी बात जयवीर को अपने पिताजी को बताइए!
अब जयवीर कुछ बिना सोचे समझे ही सरिता को डांट दिया और बोला कि तुम इतने गहनों का साड़ियों का क्या करोगी तुम एक विधवा हो ऐसी साड़ी नहीं पहन सकती और ऐसी हरकतें तुम्हें शोभा नहीं देती


Crime e petrol story
यह बात सरिता को चुभ गई और उसने रात को सभी के खाने में जहर मिला कर मार डाला और इन सबका दोष, राहुल की पत्नी कविता पर डाला कविता बहुत ही शरीफ और संस्कारी लड़की थी वह समझ नहीं पाई कि क्या हो रहा है और पुलिस उसे जेल में ले लेगी पूरी छानबीन होने लगी अंत में पता चला कि सारा किया धरा सरिता का था कविता को छोड़ दिया गया अब पूरा परिवार तबाह हो गया था सरिता को भी जेल हो गई कविता उस परिवार में अकेली बच गई कविता का बेटा भी था कविता उस अपने बेटे के साथ उस शहर में उस बिजनेस को संभालने लगी
 Conclusion of crime story in hindi
इस कहानी को पढ़कर हमें यह ज्ञान मिलता है कि लालच बुरी बला है जब किसी इंसान के अंदर लालच आ जाता है तो वह इंसान अपना ही नहीं अपने पूरे परिवार का भी विनाश कर सकता है!
संपत्ति के लिए किसी की हत्या करना आजकल क्राइम में बहुत ज्यादा दिखाई दे रहा है ऐसा क्या करें कि यह क्राइम कम हो जाए कृपया अपने सुझाव कमेंट में अवश्य दें धन्यवाद


Read more crime petrol story in hindi click hear

No comments