Breaking News

सम्पति के लालच में बेटे ने ली परिवार की जान /crime petrol story in hindi

सम्पति के लालच में बेटे ने ली परिवार की जान /crime petrol story in hindi

सम्पति के लालच में बेटे ने ली परिवार की जान /crime petrol story in hindi इस क्राइम स्टोरी में एक बेटे ने सम्पति के लालच में अपने पूरे परिवार को मौत के घाट उतार दिया । क्या लालच इंसान के सिर पर इस कदर चढ़ गया है जो इंसान अपने की परिवार को  मौत के घाट उतार दिया ।
Crime petrol story in hindi


Crime petrol story इन हिंदी -hindi-लालच

एक शहर में एक परिवार रहता था परिवार का मुखिया रामप्रसाद  था ।रामप्रसाद के दो बेटे थे शंकर ओर शम्बू  थे शंकर की शादी हो चुकी थी उसकी पत्नी का नाम सोनिया था उसका एक बेटा राहुल था । 
शम्बू की अभी सगाई  हुई थी । 
वे बहुत ही  खुशी से जी रहे थे पर उसकी ख़ुशियों को  किसी की नजर लग गई ।
शम्बू की शादी हो गई एक महीना बीत गया था । रामप्रसाद ने अपने सम्पति का वारिश शंकर को बनाया । इस पर शम्बू  की पत्नी तानिया को  बहुत बुरा लगा । और वो मन ही मन जल रही थी ।

 जब रात को खाना खाने के बाद  सभी सोने गए तो तानिया ने शम्बू से कहा कि तुम ये क्या कर रहे है तुमारे पापा ने सारी संपत्ति अपने बड़े बेटे के नाम कर दी और तुम  बस देख रहे है कुछ बोले तक नही ऐसे कैसे चलेगा आगे हमारे भी बचे होंगे तो हम उनका पालनपोषण कैसे  करंगे । 
क्या हम हमेशा तुमारे भैया से  रुपये मांगते रहेंग? 
मुझे ये जिंदगी बिल्कुल पसंद नही तुम अब अपने पापा से कहकर सम्पति में अपना भी हिसा मांगो । ऐसा कहकर  तानिया अपने पति शम्बू को उकसाने लग गई । 
सुबह होते ही शम्बू न3 तामस खड़ा कर दिया और अपने पापा से कहा कि मुझे भी सम्पति में अपना हिसा चाहिये । 
रामप्रसाद बोले में नही चाहते कि बंटवारा हो अपने भाई के सात ही रहो। पर शम्बू नही माना और ज़िद पर अड़ा रहा । 

शंकर बोला भाई अब जिद छोड़ दो । 
पर वो नही माना तमाशा 3 घंटे चला। आखिर कर शम्बू को 100000 रुपये देने का फैसला हुआ शम्बू मान गया । बात सुलझ गई । पर ये तो  बस शुरवात  एक महीनों बाद जब सभी रुपये खर्च हो गये तो फिर से शम्बू ने तमाशा करना शुरू कर दिया अब जब शंकर ने पूछा कि वह इतने सारे रुपए कहां गए ओ शंभू बोला तुम्हारे पास इतने से ज्यादा रुपए हैं मुझे सिर्फ 1000000 में रोक रहे हो नहीं मुझे और भी चाहिए ऐसा कह कर अब और बहस शुरू हो गई जैसे-तैसे ₹500000 और दे कर बहस बंद की.।


Crime petrol story in hindi


Crime story in hindi - kahaniya 



अब शंभू को बहुत गुस्सा आ रहा था तो रात को शंभू और उसकी पत्नी ने एक प्लान बनाया और धोखे से शंकर के हस्ताक्षर लेकर सभी को मार डाला शंकर की पत्नी और उसका बेटा दोनों अपने मायके नानी के घर गए थे जिससे वह बच गए बाकी घर में जितने थे सभी सदस्यों को मौत के घाट उतार डाला और जब पुलिस आए तो पुलिस को कहा कि कल घर में चोरी हो गई और चोरों ने गुस्से में आकर सभी को मार डाला ऐसा कह कर पुलिस चली गई पर पुलिस अपनी छानबीन कर रही थी जब चोरी के बारे में आसपास पता किया तो पता चला कि कोई चोरी नहीं हुई थी कोई सबूत ऐसा नहीं था जिसमें यह सबूत साबित होता हो चोरी हुई है अब सीधा शक शंभू और उसकी पत्नी तानिया पड़ता शंकर की पत्नी सोनिया
भी आ गई और वह बुरी बात समझ गई उन्होंने सीधा पुलिस को कहा कि इन दोनों ने ही कत्ल किया है क्योंकि यह रोज रुपयों के लिए बहस करते थे झगड़ा करते थे शंभू और तानिया दोनों कहने लगे कि हमने कोई मर्डर नहीं किया है यहां चोरी हुई है पर पुलिस ना माने पुलिस ने दोनों को हालात में डाल दिया और जब जैसे ही दोनों पर टॉर्चर करना शुरू किया दोनों ने सच उगल दिया और पता चल गया कि यह मर्डर किसने किया है दोनों को उम्र कैद की सजा हुई और शंकर की पत्नी और उसका बेटा दोनों अब उसी घर में रहकर अपनी जिंदगी गुजार रहे हैं


निष्कर्ष crime petrol Crime story in hindi

संपत्ति के लालच में आकर लोग अपने परिवार को ही मौत के घाट में उतार देते हैं पर क्या संपत्ति का लालच इस कदर इंसान के दिमाग में चढ़ गया है जो इंसान को सही गलत का फर्क ना पता चले हम यह नहीं कह सकते किस सिर्फ संपत्ति का लालच  ऐसा बल्कि क्राइम किसी भी तरीके से हो सकता है पनप सकता है जरूरत है तो इसे रोकने की इसे समाप्त करने की इसके खिलाफ जागरूक होने की हमें क्राइम के प्रति हमेशा जागरूक रहना है और क्राइम को होने से रोकना है

हम अपनी जिंदगी में लालच को किस कदर कम कर सकते हैं अपने सुझाव हमें कमेंट में दीजिए उम्मीद है कि आपको मेरी यह कहानी अच्छी लगी हो तो कृपया कर शेयर अवश्य करें

अगर आप क्राइम की कुछ और कहानियां भी पढ़ना चाहते हैं तो यहां क्लिक करें



No comments