Breaking News

बंदूक दिखा कर लूट पाट की / crime story in hindi

बंदूक दिखा कर लूट पाट की / crime story in hindi

इस  कहानी  (बंदूक दिखा कर लूट पाट की / crime story in hindi।  )मकसद आपको डरना नही बल्कि आपको क्राइम के प्रति सजग करना और क्राइम को होने से रोकना है ।
Crime story in hindi
Crime story

कुछ दिनों से अखबार नेट सोशल मीडिया पर बस ये ही बाते चल रही है कि किसी बुजुर्ग को लौटा नकदी चुरा ली , सोने की चेन चुरा ली । 
लूटपाट  की घटना हमारे देर में शहर में बहुत बढ़ गई है  ओर हम हाथ में हाथ धरे बैठे है और इस ताक में है कि पुलिस उनको पकड़कर हमे बचाये । 
यह हमें भी पता है कि पुलिस सही समय पर हर जगह नही पहुंच सकती इसी लिए कुछ जिमेदारी हमारी भी होती जे की हम उनकी मदद कर सके कि चोर लुटेरे पुलिस के कब्जे में आ जाये । 
 Note:- यह कहानी आप crime house पर पढ़ रहे है और  भी hindi crime story पढ़ने के लिए  हमे फॉलो करें ।click hear 

Crime story in hindi :-  लूटपाट

एक दिन एक बुजुर्ग महिला अपनी बेटी ki शादी की तैयारी कर रही थी तो उसके आसपास सभी लोग पड़ोसी को यह बात पता थी, जिस दिन वो अपनी बहू ko लेकर बाजार गई उस ही दिन उनके साथ कुछ ऎसा हो गया कि उनकी ज़िंदगी की दिशा बदल गई.
 उस दिन वो दोनों बाजार निकले  बाजार में जाते हुए किसी ने  चोरों को ये बात बता दी कि वो दोनों अपनी बेटी के लिए सोने के जेवर की खरीदारी करने के लिए जा रहे हैं
. बुजुर्ग का नाम था  भावना, ओर उसकी बेटी का नाम था सुहानी, or उसकी बहू ka naam अनामिका, उसका बेटा अनूप दिल्ली rhata है
Note:जानिये की क्राइम कितने तरह से हमारी जिंदगी में हिस्सा बन चुका है.
.


वो लोग जब बाजार जा रहे थे तो चोर उन्हें फॉलो करने लगे पर उन्हें कोई भनक न थी । दिन  का समय जब वो लोग वापिस आये तो रास्ते मे उन्हें बीच बाजार में चोरों ने  घेर लिये। ओर बंदूक दिखा कर लूटने की कोशिस की , अनामिका ने रुपये बचने की बहुत कोशिस की पर चोरो ने उसपर गोली मार दी , चोर उनका बेग लूटकर ले गए ।
अनामिका खून में लतपत पड़ी रही और भावना मदद की गुहार लगती रही परंतु कोई सामने नही आया । तब एम्बुलेंस आ गई और अनामिका को  हॉस्पिटल ले गए । अनामिका के कन्धे पर गोली लगी थी जिससे उसका  कंधा टूट गया उसे डॉक्टर ने 2 महीने का बेड रेस्ट करने को कहा। 

Crime story in hindi

अब अनूप भी दिल्ली से आ गया था ओर वो बहुत गुस्से में था उसने पुलिस में रिपोर्ट दर्ज करवाई । ओर 300000 की चोरी की भी रिपोर्ट दर्ज करवाई ।
अनूप उस जगह में गया जहां ये हादसा हुआ था वहां पर उसने पता करने की बहुत कोशिस की पर किसी ने कुछ नही। बताया । सब झूट बोलने लगे कि हमने नही देखा। पुलिस ने भी  उनकी दुकान की सीसीटीवी की वीडियो दिखाने को कहा पर कोई पुलिस के झमेले में नही जाना चाहते थे । सभी ने वो पहले ही डिलीट कर दिया था ।
अब ये बात चोरो के कानों में भी चली गई कि हमे पुलिस ढूंढ रही है । तो वो ओर भी सतर्क रहने लगे । पॉलिसी ने पड़ोसियों से पूछ्ताज करना शुरू की सभी ने दरवाजा खोला पर एक  ने नही खोला ।वो दूसरे शहर का था  किराए पर रहता था करीब एक महीने पहले ही वो आया था ।

पुलिस का शक सीधे उस किरायेदार पर ही गया । और वो उसपर नजर रखने लगे । वो कहा जाता है क्या करता है किससे  मिलता है सब ।
पर वो एक हप्ते किसी से नही मिला  , दूसरे शहर से एक फैक्स आया वो 2 हप्ते पहले की चोरी का था उसमें  कहीं से एक वीडियो पुलिस के हाथ लग गई थी  जिसमे उस किराएदार का  चेहरा दिके गया । और  पुलिस चुप चाप उसके घर चली गई ।
उसने पुलिस को देखते ही भागना शुरू कर दिया अब  की था पुलिस ने उसे धर दबोचा ।ओर उससे पूछ्ताज करने लग गई ।
यह बात अनूप को पता चली और वो भी  पुलिस स्टेशन में गया और उसपर हाथ साफ किया । पर वो कुछ न बोला । पुलिस ने उसकेफ़ोन को चेक किया जिसपर कई मिसकॉल आयी हुई थी । तो पुलिस ने उनका नंबर ट्रेस करने का प्लान बनाया पर सभी स्विच ऑफ थे । पुलिस इस बार भी नाकाम हुई । दो दिन बाद एक पल के लिए एक नंबर ऑन हुया ओर उसी समय पुलिस ने उसे ट्रेस कर लिया उसका न ओर पता सुब कुछ पुलिस उसके पीछे लग गई । उसके  कानो में जैसे ही खबर गई वो भागने लगा पूरे  शहर में नाकाबंदी हो गई ।किसी को आने जाने नही दिया चोरो के सभी दाव धरे के धरे रह गए,


Note:--जानिए  क्राइम क्या हे?,ओर ये कितने प्रकार का होता है


अब चोरो ने अनूप को निशाना बनाया और उसे किडनेप कर दिया । ओर पुलिस से रुपये ओर गाड़ी की मांग की ओर यह कदम ही उनके लिए  जेल जाने की सीढ़ी बन गया।

तब पुलिस ने चोरों के नंबर को ट्रेस कर उनके चारों तरफ नाकाबंदी कर ली और उन्हें वार्निंग दी कि उन्होंने अगर अनूप को सही सलामत ना लौट आया तो उन सबको इनकाउंटर में मार दिया जाएगा ऐसा सुनते ही चोर बौखला उठे और अफरातफरी में भागने लगे ऐसा करते देख उन्हें पुलिस में उनमें से चारों को धर दबोचा अभी भी 6 फरार थे पुलिस ने उन चारों को टॉर्चर कर उगलवाने ने की कोशिश की आखिरकार एक मान गया और उसने उन चारों का हो लिया और ठिकाना और चोरी किया गया जेवर का पता बता दिया जिसे पुलिस ने चुपचाप जाकर उन चारों को धर दबोचा ,
आप सभी पुलिस के चंगुल में आ चुके थे पुलिस ने उन्हें कोर्ट में पेश किया चोरी डकैती मर्डर प्लान के जुर्म में उन्हें 20 साल की सजा हुई सभी को उनका धन जेवर वापस मिल गए
निष्कर्ष hindi crime story
दोस्तो चोरी करना डकैती करना एक संगीन जुर्म है ।
चोरो ने चोरी तो की पर उसने अनामिका पर गोली भी मारी जिससे उनपर ओर भी ज्यादा कैद की सजा लग गई ।
हमे हमेसा क्राइम को होने से रोकने वाले काम करने चाहिए ।
पुलिस का सहयोग करना चाहिए
यदि हम पुलिस की मदद करना झमेला समझते है तो दोस्तो हो सकता है कभी वो चोर आपको ही लूट ले  ।
हमारी एक सावधानी ओर सबूत चोरो के गले का फंदा बन सकता है ।
जब भी हम कोई शॉपिंग करने जाते है तो किसी को खबर नही होनी चाहिए कि हम की लेने ज रहे है ।
क्राइम कहीं भी पनप सकता है इसी लिए सावधान रहें ।

No comments