Breaking News

Crime story in hindi/ भ्रष्टाचार पर रोक

Crime story in hindi/ भ्रष्टाचार पर रोक

Crime story in hindi
Crime story

इस कहानी का मकसद  देश में हो रहे क्राइम को रोकना कथा क्राइम के प्रति आप को जागरूक करना है,,crime story in hindi/भ्रष्टाचार पर रोक, भ्रष्टाचार के खिलाफ एक कदम है जिससे भ्रष्टाचार  रुक तो नहीं सकता पर कम हो सकताा है! 


Crime story/ भ्रष्टाचार क्या है

भ्रष्टाचार यानी करप्शन भ्रष्टाचार को यदि 2 शब्दों में बांटा जाए तो भ्रष्टाचार का अर्थ होगा भ्रष्ट यानी खराब आचरण खराब! 
भ्रष्टाचार का शाब्दिक अर्थ खराब आचरण होता है! भ्रष्टाचार द्वारा देश की उन्नति पर आर्थिक व्यवस्था पर बहुत बड़ा आघात पहुंचा है भ्रष्टाचार हमारे अंदर ही अंदर से खोखला कर दिया है और यदि ऐसा ही रहा तो हमारा देश हमेशा विकासशील भी रहेगा विकसित नहीं हो पाएगा यदि भ्रष्टाचार समाप्त हो जाए तो हमारा देश खुद-ब-खुद विकसित हो जाएगा.!
भ्रष्टाचार से हमारे देश पर असर
भ्रष्टाचार से हमारी देश की आर्थिक स्थिति कहां पर है और हमारे देश की इज्जत दूसरे देशों के सामने कम हो रही है आइए आपको मैं इसका एक उदाहरण देकर बताता हूं
जब भी हमारे देश में कोई फॉरेनर्स विदेशी घूमने आते हैं तो हमारे देश के नागरिक उनके साथ लूटपाट करते हैं उनसे किराए से अधिक धन वसूलते हैं रेट से अधिक धनी लेते हैं किसी सामग्री का एमआरपी यदि ₹50 हैं 2 फॉरेनर्स से उसके ₹100 वसूले जाते हैं जिससे वह लोग तो चले जाते हैं पर यहां से अपने साथ हो गए अन्याय को भी अपने देश में बताते हैं जिससे हमारे देश की इज्जत दूसरे देशों में कम होती जा रही है सीधा-सीधा इससे हमारी आर्थिक व्यवस्था पर भी असर पड़ता है
 यदि आप रिश्वतखोरी के बारे में पढ़ना चाहते हैं तो क्लिक करें

हमारे देश के कई राज्यों में पर्यटन एक आयका बहुत ही मुख्य साधन है परंतु यदि अब उन स्थानों पर कोई पर्यटन न जाए तो इससे उस राज्य की आर्थिक व्यवस्था पर और बड़ा आघात पहुंचेगा और उस राज्य की आर्थिक व्यवस्था के कारण हमारे देश की आर्थिक व्यवस्था बिगड़ जाएगी!

भ्रष्टाचार पर रोक कैसे लगाएं

क्राइम story in hindi

भ्रष्टाचार हमारे देश में पूरी तरह से फैला हुआ है इसको हम पूरी तरह से रोक तो नहीं सकते परंतु कुछ हद तक कम कर सकते हैं हमारे देश में भ्रष्टाचार का सबसे बड़ा मूलभूत रूप है रिश्वतखोरी हमारे देश में कई सरकारी दफ्तरों में सरकारी कर्मचारियों द्वारा नेताओं द्वारा काम कराने के लिए उन्हें रिश्वत दी जाती है जिससे हमारा काम जल्दी हो जाता है परंतु भ्रष्टाचार को बढ़ावा मिलता है.!


 

हमारे देश में सिर्फ सरकारी दफ्तरों में ही नहीं कहीं-कहीं तो लोग कमीशन के रूप में काम कराने के रुपए लेते हैं यह भी एक प्रकार का भ्रष्टाचार है.!
यह रिश्वत द्वारा ली गए रुपए क्या कमीशन द्वारा जमा रुपए उनकी अन्य आएगा स्रोत बन जाती है जिसे हम ब्लैक मनी कहां सकते हैं और यह ब्लैक मनी वह लोग सरकार से छिपाकर खुद के लिए उपयोग करते हैं इससे देश की आर्थिक स्थिति पर असर पड़ता है परंतु वह खुद अमीर होते चले जाते हैं इसीलिए कई लोगों के घरों पर इनकम टैक्स डिपार्टमेंट के द्वारा छापे भी मारे जाते हैं जिससे उनके द्वारा छुपाए गया ब्लैक मनी बाहर मिल जाता है और वह सरकार के खाते में जमा हो जाता है
सरकार को समय से टोल टैक्स देना समय से टैक्स देना सरकार द्वारा चलाए गए हर रोल को हर नियम का पालन करना एक नागरिक का कर्तव्य है परंतु जब लोग इस नियमों का पालन नहीं करते तो वह लोग हमारे देश में भ्रष्टाचार को बढ़ावा देते हैं


Crime story in hindi भ्रष्टाचार पर रोक\


एक छोटे से शहर में एक प्राइवेट जॉब करने वाला करमचारी रहता था उसका नाम मुकेश था
मुकेश हमेशा सभी नियमों का पालन करता था सरकार द्वारा चलाए गए सभी नियमों को देखते हुए हर कार्य को करता था एक दिन जब वह जा रहा था तो सड़क पर ट्रैफिक सिग्नल के सामने वह रुक गया क्योंकि सिग्नल के लाल बत्ती आ रही थी और वहां कोई ट्रैफिक पुलिस वाला भी नहीं था चुंकी वह ट्रैफिक सिग्नल खराब हो चुका था जिस कारण से चारों तरफ लाल बत्ती आ रही थी बहुत बहुत ही बुरी तरीके से ट्रैफिक जाम हो गया लोगों ने अपने-अपने वाहनों को निकालना शुरू किया जिस कारण से अफरातफरी के कारण चारों तरफ से ट्रैफिक जाम हो गया किसी ने मुकेश की बाइक पर टक्कर हुई और वह सभी के बीच में फस गया ऐसा देख ट्रैफिक पुलिस वाला चाय पी कर वापस आया और जो लोग बीच में फसे थे उन सब की गाड़ी की चाबी लेकर चला गया और बाकियों को किनारे से भेज दिया जब सारा ट्रेफिक क्लियर हो गया तब उसने सभी को कहा यदि चाबी चाहिए तो रुपए दो ऐसे में सभी ने ₹200 देकर अपनी अपनी चाबियां वापस ले ली
अब मुकेश सारे कागजात लेकर उस ट्रैफिक हवलदार के पास गया उससे बोला कि मैं भी सारे कागज जमा कर लो देख लो मेरे सारे डॉक्यूमेंट पूरे हैं मुझे मेरी चाबी चाहिए चाहे तो आप  फाइन काट सकते हैं परंतु ट्रैफिक पुलिस ने चाबी देने से मना कर दिया और बोला अगर ₹200 दोगे तो मैं चाबी दूंगा नहीं तो कोर्ट में मिल लेना मुकेश चला गया मुकेश जब पुलिस स्टेशन पहुंचा तो वहां सभी ने उससे रुपए मांगना शुरू कर दिया परंतु मुकेश में एक भी रुपए नहीं लिए ऐसे में एक सज्जन पुलिस ऑफिसर ने कहा कि तुम यहां के सिस्टम को नहीं जानते यदि रुपए नहीं दोगे तो बहुत बुरी तरीके से फंस जाओगे परंतु मुकेश ने रुपए देने से मना कर दिया तो पुलिस वाले ने उस पार धोखाधड़ी का आरोप लगाकर अंदर कर दिया वह सज्जन पुलिस वाला उसे बार बार समझाता रहा परंतु वह नहीं माना तभी मुकेश के फोन पर उसके दोस्त का कॉल आया उस सज्जन पुलिस वाले ने उसके दोस्त को सारी कहानी सुना दी जिससे वह तुरंत आकर रिश्वत देकर मुकेश को चुरा ले गया !


ऐसा देखकर मुकेश को बहुत गुस्सा आया और उसने एंटी करप्शन ब्यूरो को एक लेटर लिखा जिससे सारे रिश्वत देने वाले पुलिस वालों को एंटी करप्शन ब्यूरो द्वारा पकड़ लिया गया और उन्हें सस्पेंड कर दिया गया ऐसा देखकर आधे से अधिक सरकारी कर्मचारियों में रिश्वत लेना छोड़ दी और कुछ हद तक उस शहर के स्थिति में अंतर आ गया
Conclusion hindi crime story
यदि हम चाहे तो कुछ भी कर सकते हैं परंतु हमें एक कदम उठाना होगा जैसे मुकेश के एक कदम द्वारा पूरे शहर का बना हुआ पूरे शहर में करप्शन रुक गया उसी तरह यदि हम भी अपने आसपास ऐसे ही कार्य करें हमारे आसपास हमारे शहर में भी रिश्वतखोरी भ्रष्टाचार रुक सकता है भ्रष्टाचार हमारे देश को अंदर ही अंदर से खोखला करना है यदि उसे रोका नहीं गया तो हमें भविष्य में इसके बुरे अंजाम देखने को मिल सकते हैं आप के खिलाफ आवाज उठाना हर नागरिक का कर्तव्य है,
मुझे उम्मीद है कि आपको यह कहानी अच्छी लगी होगी यदि आप ऐसे ही और कहानियां पढ़ना चाहते हैं तो क्लिक करें

No comments